डैड ने दिया तीन बच्चों को जन्म First Male Mother

Posted on
  • Thursday, March 8, 2012
  • by
  • DR. ANWER JAMAL
  • in
  • Labels:
  • जानकर चौंक जाएंगे कि तीन बच्चों के पिता 38 साल के थॉमस ने ही तीनों बच्चों को अपने गर्भ से जन्म दिया। वैसे तो यह माना जाता है कि पूरी दुनिया में 5 मेल मदर हैं, लेकिन कैमरे के सामने प्रेग्नेंसी से लेकर जन्म तक आने वाले थॉमस पहले मेल मदर हैं। दरअसल, अमेरिका में फीनिक्स के थॉमस का जन्म लड़की के रूप में हुआ था, लेकिन 20 साल की उम्र में उन्होंने अपना सेक्स चेंज करा लिया और लड़का बन गए। एक दिन मां बनने की इच्छा की वजह से उन्होंने फीमेल रिप्रडक्टिव ऑर्गन्स को हटवाया नहीं और इसी वजह से जेनेटिकली वह मां बन सके।
    थॉमसे ने सेक्स चेंज कराने के बाद नैंसी से शादी की और एक अननोन स्पर्म डोनर की हेल्प से तीन बच्चों सुजैन, जेनसेन और ऑस्टिन को जन्म दिया। ऑस्टिन को जानवरों से बहुत प्यार है और वह अक्सर अपने डैड के घुटनों पर बैठकर उनकी कहानियां सुनती रहती है। थॉमस उसे यह भी बताते हैं कि वह इस दुनिया में कैसे आई। वह अपनी प्रेग्नेंसी की फोटो भी दिखाकर उसे बताते हैं कि वह किस तरह अपने डैड के पेट में थी। उसे यह रहस्य समझाने के लिए वह समुद्री घोड़े की भी कहानी सुनाते हैं कि वह किस तरह प्रेग्नेंट हो सकते हैं।
    Source :  http://navbharattimes.indiatimes.com/articleshow/12173903.cms

    Man who gave birth has a womb

    Gender-realignment surgery raises interesting issues.

    The world's first male mother: the American Thomas Beatie, right, pictured with wife Nancy and daughter Susan in 2008 - Man who gave birth has a womb
    The world's first male mother: the American Thomas Beatie, right, pictured with wife Nancy and daughter Susan in 2008 Photo: PATRIK STOLLARZ/GETTY IMAGES

    4 comments:

    sangita said...

    sarthak post hae .jankari bhi behad mahatva purna hae. mere blog par aapka svagat hae.

    Reena Maurya said...

    bahut intresting jankari hai...
    holi ke dher sari shubh kamnaye ......

    हरकीरत ' हीर' said...

    adbhut .....

    Ramakant Singh said...

    WHAT CAN I SAY.
    JUST WATCH MAA ON MY BLOG.
    AAPAKI BHAWANA KO HRIDAY SE
    SHAT SHAT PRANAM.

    There was an error in this gadget

    Followers

    प्यारी माँ

    Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
    • नई फ्रॉक - ‘अम्मी चल ना बाहर ! देख कितनी सुन्दर, चमकीली, सोने चाँदी के तारों से कढ़ी फराकें ले के आया है फेरी वाला ! मुझे भी दिला दे न एक ! मामू की शादी में मैं भी...
    • मीरा कुमार जी को हटाया क्यों नहीं सुषमा जी ? - [image: Image result for sushma swaraj with meira kumar in laughing mood image] विपक्षी दलों ने जब से भाजपा के राष्ट्रपति पद के दलित उम्मीदवार श्री रामनाथ ...
    • हेमलासत्ता (भाग-2) - नाई की बात सुनकर खेतासर के लोग बोले- हेमला से हम हार गए, वह तो एक के बाद एक को मारे जा रहा है, बड़े गांव में भी हम लोगों को चैन से नहीं रहने दे रहा है। हम क...
    • संताप से भरे पुत्र का पत्र - कल एक पुत्र का संताप से भरा पत्र पढ़ने को मिला। उसके साथ ऐसी भयंकर दुर्घटना हुई थी जिसका संताप उसे आजीवन भुगतना ही होगा। पिता आपने शहर में अकेले रहते थे, ...
    • ब्रह्म वाक्य - दुःख दर्द आंसू आहें पुकार सब गए बेकार न खुदी बुलंद हुई न खुदा ही मिला ज़िन्दगी को न कोई सिला मिला यहाँ रब एक सम्मोहन है और ज़िन्दगी एक पिंजर और तू म...
    • बस यूँ ही ~ 2 - *मैं जिंदा तो हूँ , जिंदगी नहीं है मुझमें * *फक़त साँस चल रही है ज़िस्म फ़ना होने तक !!* *सु-मन *
    • नंबर रेस का औचित्य? - 10वीं 12वीं का रिजल्ट आया. किसी भी बच्चे के 90% से कम अंक सुनने में नहीं आये. पर इतने पर भी न बच्चा संतुष्ट है न उनके माता पिता। इसके साथ ही सुनने में आया...
    • आइना - है वह आइना तेरा हर अक्स का हिसाब रखता है तू चाहे याद रखे न रखे उसमें जीवंत बना रहता है बिना उसकी अनुमति लिए जब बाहर झाँकता है चाहे कोई भी मुखौटा लगा ल...
    • माँ तुझे प्रणाम - *माँ तुझे प्रणाम* *शत शत नमन कोटि प्रणाम * *माँ तुझे प्रणाम ।* *जब मैं तेरी कोख में आई * *तूने स्पर्श से बताया था * *ममता का कोई मोल नहीं * *तूने ही सि...
    • जाने कहाँ गया वो दिन??? - "आज कुछ special बना दो, Sunday है... " ... अभी तो परसों कढ़ाही पनीर बनी थी... "सुनो, मैं अपने दोस्तों से मिल कर आ रहा हूँ, वो आज Sunday है न..." ... हाँ, द...
    • अधूरे हम... - एक युवक बगीचे में खिन्न मुद्रा में बैठा था । एक बुजुर्ग ने उस परेशान युवक से पूछा - क्या हुआ बेटा क्यूं इतने परेशान हो ? युव...
    • नया साल ! - समर घर से निकला तो पत्नी और बच्चों के लिए गिफ्ट पहले ही खरीदता हुआ होटल पहुंचा था। रात में प्रोग्राम ख़त्म करके सीधे घर भागेगा क्यो...
    • - * गज़ल * तमन्ना सर फरोशी की लिये आगे खड़ा होता मैं क़िसमत का धनी होता बतन पर गर फना होता अगर माकूल से माहौल में मैं भी पला होता मेरा जीने का मक़सद आसमां से भी ...
    • वेदों में गायन कला - *- डॉ. शरद सिंह* *गायन मानव की संवेदनाओं को जागृत करता है.आज दुनिया भर में संगीत के महत्व पर वैज्ञानिक शोध हो रहे हैं . पाश्चात्य जगत के व...
    • भ्रष्ट आचार - स्वतंत्र भारत की नीव में उस समय के नेताओं ने अपनी महत्त्वाकांक्षाओं के रख दिये थे भ्रष्ट आचार फिर देश से कैसे खत्म हो भ्रष्टाचार ?
    • उदास आँखों में छुपी झुर्रियों की दास्तान (भाग -9) - *(रात में बेटी के फोन की आवाज़ से जग कर वे,अपना पुराना जीवन याद करने लगती > हैं.उनकी चार बेटियों और दो बेटों से घर गुलज़ार रहता. पति गाँव के स्कूल में > ...

    मन की दुनिया

    नारी का पूर्ण सशक्तिकरण

    • मेरे मन की.... - मेरी पहली पुस्तक "मेरे मन की" की प्रिंटींग का काम पूरा हो चुका है | और यह पुस्तक बुक स्टोर पर आ चुकी है| आप सब ऑनलाइन गाथा के द्वारा बुक कर सकते है| मेरी...
      4 days ago
     
    Copyright (c) 2010 प्यारी माँ. All rights reserved.