13 million abortions every year in China due to its rigid population control programme

Posted on
  • Monday, October 3, 2011
  • by
  • DR. ANWER JAMAL
  • in
  • Labels:
  • Chinese officials force woman to abort foetus

    A dozen officials burst into her home, dragged her out and carried out the abortion

    An eight-month pregnant Chinese woman who defied the one-child norm was dragged out of her home and forced to have an abortion.
    A dozen government officials entered the home of Xiao Aiying’s house and allegedly hit her and kicked her in the stomach before dragging her to a hospital where she was injected with a drug to kill the unborn baby, reported the Daily Mail on Friday.
    The 36-year-old woman was restrained while doctors went about their given task of injecting the drug. The incident happened on October 10 in Siming, near the city of Xiamen, south-west China. The incident came to light when the couple decided to blog their ordeal, an act that could fetch them official retribution.
    She may need a surgery to remove placenta left over in her uterus during the almost crude abortion conducted.
    Video footage that came out of the hospital, showed Xiao left with a bruised arm from the beating she received from the officials who barged into her house.
    The report quoted her construction worker husband Luo Yanquan as saying officials who burst into their home held her hands behind her back and pushed her head against the wall and kicked her in the stomach.  “I don’t know if they were trying to give her a miscarriage,” he said.
    He said their 10-year-old daughter was excited about the baby her mother was carrying and says he cannot fathom how to convey this tragic news to the child.
    He said months before the child was due, officials had told them it was an illegal act because they already have a daughter.
    The incident came after a month Beijing reiterated that there was no relaxation in the country’s strict family planning laws.
    The 1.3 billion strong nation allows only one child a couple in its rigid population control programme. The policy leads to an estimated 13 million abortions every year.
    Violations of the rule could fetch fines of up to £25,000. But several families pay up the fines since the two decades of economic boom means many can afford such money.
    The report quoted an official of the Siming district family planning commission as saying the woman volunteered to undergo the abortion, a claim her husband denied.
    Source - http://www.hotklix.com/link/News/Bizarre/Miracle-Baby-delivered-from-murdered-mother

    0 comments:

    There was an error in this gadget

    Followers

    प्यारी माँ

    Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
    • मैं नदी हूँ - बहती रही अथक निरंतर मैं सदियों से करती रही धरा अभिसिन्चित मैं सदियों से साधना वैद
    • क्या आदमी सच में आदमी है ? - [image: Image result for buffalo with man free images] ''आदमी '' प्रकृति की सर्वोत्कृष्ट कृति है .आदमी को इंसान भी कहते हैं , मानव भी कहते हैं ,इसी कारण आ...
    • तू इसमें रहेगा और यह तुझ में रहेगा - प्रेम में डूबे जोड़े हम सब की नजरों से गुजरे हैं, एक दूजे में खोये, किसी भी आहट से अनजान और किसी की दखल से बेहद दुखी। मुझे लगने लगा है कि मैं भी ऐसी ही प्र...
    • वह जीने लगी है... - अब नहीं होती उसकी आँखे नम जब मिलते हैं अपने अब नहीं भीगतीं उसकी पलके देखकर टूटते सपने। अब नहीं छूटती उसकी रुलाई किसी के उल्हानो से अब नहीं मरती उसकी भूख कि...
    • प्राकृतिक अभियंता - तिनके चुन चुन घरोंदा बनाया आने जाने के लिए एक द्वार लगाया मनोयोग से घर को सजाया दरवाजे पर खड़े खड़े अपना घर निहार रही देख दस्तकारी अपनी फूली नहीं सम...
    • ये है सरकारी होली :) - सरकार आपको होली तक फ्री राइड करवाएगी फिर वो बस हो ऑटो टैक्सी या फिर मेट्रो क्योंकि यदि नोट लेकर निकले और किसी ने रंग भरा गुब्बारा मार दिया तो आपकी तो बल्ले...
    • तुम और मैं -८ - *.....तुम !* *स्याह लफ्ज़ों में लिपटे ख़यालात हो* *और मैं...* *उन ख़यालों की ताबीर |* *एक एहसास की नज़्म* *आज भी ...* *जिन्दा है तुम्हारे मेरे बीच !!* *सु-म...
    • जाने कहाँ गया वो दिन??? - "आज कुछ special बना दो, Sunday है... " ... अभी तो परसों कढ़ाही पनीर बनी थी... "सुनो, मैं अपने दोस्तों से मिल कर आ रहा हूँ, वो आज Sunday है न..." ... हाँ, द...
    • अधूरे हम... - एक युवक बगीचे में खिन्न मुद्रा में बैठा था । एक बुजुर्ग ने उस परेशान युवक से पूछा - क्या हुआ बेटा क्यूं इतने परेशान हो ? युव...
    • टी-पाट - *टी-पाट* *कहानी-पूनम श्रीवास्तव * *छनाक की तेज आवाज हुयी और उज्ज्वला कुछ लिखते लिखते चौंक पड़ी।फिर बोली क्या हुआ?क्या टूटा ?अ...
    • नया साल ! - समर घर से निकला तो पत्नी और बच्चों के लिए गिफ्ट पहले ही खरीदता हुआ होटल पहुंचा था। रात में प्रोग्राम ख़त्म करके सीधे घर भागेगा क्यो...
    • - * गज़ल * तमन्ना सर फरोशी की लिये आगे खड़ा होता मैं क़िसमत का धनी होता बतन पर गर फना होता अगर माकूल से माहौल में मैं भी पला होता मेरा जीने का मक़सद आसमां से भी ...
    • वेदों में गायन कला - *- डॉ. शरद सिंह* *गायन मानव की संवेदनाओं को जागृत करता है.आज दुनिया भर में संगीत के महत्व पर वैज्ञानिक शोध हो रहे हैं . पाश्चात्य जगत के व...
    • भ्रष्ट आचार - स्वतंत्र भारत की नीव में उस समय के नेताओं ने अपनी महत्त्वाकांक्षाओं के रख दिये थे भ्रष्ट आचार फिर देश से कैसे खत्म हो भ्रष्टाचार ?
    • उदास आँखों में छुपी झुर्रियों की दास्तान (भाग -9) - *(रात में बेटी के फोन की आवाज़ से जग कर वे,अपना पुराना जीवन याद करने लगती > हैं.उनकी चार बेटियों और दो बेटों से घर गुलज़ार रहता. पति गाँव के स्कूल में > ...

    मन की दुनिया

    नारी का पूर्ण सशक्तिकरण

     
    Copyright (c) 2010 प्यारी माँ. All rights reserved.