प्यारा सा संवाद

Posted on
  • Sunday, February 6, 2011
  • by
  • Minakshi Pant
  • in


  • हर दम तो साथ - साथ रहता है !
    जेसे हमसे  ही वो कुच्छ कहता है !
    माँ भी तो हर दम जान जाती है !
    इशारों - इशारों मै सब कुछ  बताती है !


    जब वो थोडा और बड़ा होता है !
    घुटनों के बल इधर - उधर डोलता है !
    माँ का दम ही निकल जाता है ,
    जब वो थोडा सा भी रोता है !



    जब वो स्कूल को निकलता है !
    माँ के पल्लू  से हरदम लिपटता है !
    लगता है जेसे माँ से बिछड़ने का ........
    हरदम उसे खोफ सा ही रहता है !


    जब जवानी मै पांव वो रखता है !
    यारों दोस्तों से जब वो मिलता है !
    तब माँ के उस एहसास को...............
    थोडा - थोडा सा अब वो खोने  लगता है !


    अब माँ का आशीर्वाद फिर वो पाता है !
    घर मै प्यारी दुल्हन ले के आता है !
    उसके साथ रंग - बिरंगे सपने देख कर
    फिर वो एक नया संसार बसाता  है !

    1 comments:

    रश्मि प्रभा... said...

    माँ अपनी दुआओं के साथ हमेशा साथ चलती है...

    There was an error in this gadget

    Followers

    प्यारी माँ

    Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

    मन की दुनिया

    नारी का पूर्ण सशक्तिकरण

    • सियासती रोटियां - सियासती रोटियां एक नन्हीं बच्ची के जिस्म को चूल्हा बनाकर, उसकी योनि में आग लगाकर कुछ भेड़ियों ने रोटी सेंकी. वे रोटियां न हिन्दू थी और न मुस्लिम... वे सिया...
      1 week ago
     
    Copyright (c) 2010 प्यारी माँ. All rights reserved.